Saturday, July 15, 2017

हमसे सम्पर्क करें

भाईयो एवं बहनों आप सभी का मेरे इस ब्लॉग के लिए कुछ सुझाव हो तो बताइए।

Monday, July 10, 2017

your skin

Your Skin

                                          You probably don't realize it, but your skin is constantly reinventing itself: The outer layer regenerates every month. Your body's biggest organ needs to stay in tip-top shape because it has important jobs to do—like shielding you from pathogens, the elements, and everyday bumps and falls. You can help by giving your skin the TLC it deserves. That means eating the right nutrients, slathering on sunscreen, and checking for suspicious spots, says Jessica Wu, MD, professor of dermatology at the University of Southern California's Keck School of Medicine. Bonus: Those same healthy habits will keep your skin soft, smooth and gorgeous, too.

Layer by layer

In order to understand how to keep your skin healthy, it helps to know these important terms:
The epidermis makes new skin and the pigment melanin. It also contains Langerhans cells, which help regulate your immune system.
The dermis holds the subepidermal structures of the skin in place.
Subcutaneous fat cushions and protects your body and helps you stay warm.
Sebaceous glands produce an oily substance to keep your skin smooth and soft.
Blood vessels remove waste (like CO2) and ferry nutrients through the layers of the skin.
Hair follicles attach to tiny muscles that cause your hair to stand up (giving you goose bumps) and trap heat when you're cold.
Sweat glands secrete perspiration to moisten the surface of the skin and cool you down.
Nerves send signals to your brain, so you know how something feels and react to it (e.g., you pull your hand back from a hot pot).


When in doubt, get moles checked out


      It's important to alert your derm to any new growth. But it's especially vital if the mole exhibits one or more of the ABCDE signs of melanoma: asymmetry, border irregularity, color variations, a diameter that's larger than a pencil eraser's, and an evolving size, color or shape. You should also have your derm examine anything that looks like a pimple or ingrown hair and doesn't go away within three weeks. "It could be either basal or squamous cell carcinoma, the two nonmelanoma forms of skin cancer," says dermatologist Shawn Allen, MD, spokesperson for the Skin Cancer Foundation. These are much less likely to be deadly but still require removal; and the longer you wait, the larger they grow.
If you notice a suspicious spot, you may be tempted to use a skin cancer app that lets you submit a picture for either automated analysis or a dermatologist's opinion. "These are unreliable," cautions Dr. Allen. "It's hard enough to make the call as to whether something needs to be biopsied when the person is standing right in front of you." The better move is to always schedule a face-to-face appointment.

See spots fade



       If you're unhappy with freckles, sunspots, or melasma (patches of gray-brown skin), these treatments can erase 'em.
Tri-luma: This Rx cream packs a triple punch: the skin bleacher hydroquinone, a skin-sloughing retinoid and a steroid to reduce irritation. Since high doses of hydroquinone have been linked to cancer in rats, many doctors recommend that you limit use. Cost: around $150 for a four-month supply.
Glycolic acid peels: These medical-strength peels contain at least 30 percent glycolic acid, and some dermatologists will mix in hydroquinone for extra potency. Most women require three to five peels before they see results. Cost: $200 to $250 per peel.
Lasers: They are very effective at zapping freckles and sunspots, says Heather D. Rogers, MD, professor of dermatology at the University of Washington School of Medicine in Seattle. Patients generally need three or more treatments. Cost: about $500 per session.

Your acne may get worse with age



       "As you enter perimenopause"—which can start as early as your 30s—"your estrogen levels drop, while male sex hormones, like testosterone, remain nearly constant," says Dr. Wu. That imbalance may send your oil glands into overdrive, causing you to break out like a teen. Look for OTC products with retinol, which fights both wrinkles (by increasing cell turnover) and pimples (by unblocking pores). Or ask your derm about a prescription retinoid, like Renova, which may be a good choice for aging skin. But if you're experiencing big, pustulelike cysts, you likely need something stronger: "I sometimes put patients on the blood pressure medication spironolactone, which restores hormonal balance," says Dr. Jaliman.

Smart swaps can give you better skin


      While some foods can help prevent UV damage, others can cause problems (from acne to aging). Here, three smart trades to try for healthier skin.
Instead of blended coffee drinks, drink plain iced coffee. Dairy can worsen acne; sugar helps break down collagen, says Dr. Wu, author of Feed Your Face. On the other hand, having four or more cups of coffee a day was associated with a 20 percent lower risk of melanoma in a 2015 Yale study.
Instead of grilled steak, eat salmon. Red meat that's cooked at high temps is more likely to form advanced glycation end products, which can play a role in aging. Salmon is rich in anti-inflammatory omega-3 fatty acids. A study published in 2009 suggests that a serving of oily fish every five days may protect against pre-cancerous changes.​
Instead of lots of citrus fruits, eat watermelon. Citrus contains substances called psoralens, which make your skin more sensitive to UV rays, and have been linked to an increased risk of melanoma. Like citrus fruits, watermelon are chock-full of skin-rejuvenating vitamin C—but they don't have any psoralens.

You sweat for a reason

                                   What you need to know about embarrassing perspiration issues.

First of all, why do we perspire? It's your body's way of regulating your temperature, says Dr. Jaliman. There are two types of sweat glands: eccrine, which are found all over your body, and apocrine, which are located in areas with a lot of hair follicles, like your armpits and groin. Your eccrine glands produce mostly odorless water and salt; your apocrine glands, however, churn out a milky fluid that combines with skin bacteria to create BO.
How can I prevent rashes and breakouts caused by sweat? Start by wearing looser workout gear, since rashes can be a result of friction from damp clothing, says Dr. Wu. And shower as soon as you can after each workout (or wipe down your face, chest and back with salicylic or glycolic acid pads). If the problem persists, try applying antiperspirant on your inner thighs and under your breasts to stave off rashes and chafing.
My palms drip when I'm nervous. What can I do? About 3 percent of people in the United States have hyperhidrosis, which means they sweat too much, often from one or two areas of the body (usually the underarms, palms, feet or head), according to Malcolm Brock, MD, director of the Johns Hopkins Center for Sweating Disorders. If you're diagnosed with the condition, there are a number of treatment options, including prescription deodorants and Botox.

Wednesday, July 5, 2017

लाखों करोड़पति अमेरिका के लगे हुए हैं इस वीडियो को डिलीट करने में, जानिये ऐसा क्या है इस में?

लाखों करोड़पति अमेरिका के लगे हुए हैं इस वीडियो को डिलीट करने में, जानिये ऐसा क्या है इस में?

इन्सान की हजारों ख्वाहिशें होती हैं, उन्हें पूरा करने के लिए वो दिन रात मेहनत करता है, खूब काम करके पैसे कमाना चाहता है, उस पैसे से अपनी हर ख्वाहिश पूरी करना चाहता है, मगर ऐसा कर नहीं पाता. हम आपके लिए एक ऐसी जानकारी लेकर आये हैं जिसके बाद आप अपनी सभी ख्वाहिशें पूरी कर सकेंगे. एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो पैसे कमाने में आपकी मदद करेगा. इस सॉफ्टवेयर को बनाने वाली कम्पनी का दावा है कि इसके जरिये आप हर रोज सौ अमेरिकी डॉलर से 10 हजार अमेरिकी डॉलर तक की कमाई कर सकते हैं.

सॉफ्टवेयर माइकल क्रॉफोर्ड नाम के एक आदमी ने बनाया है :


आपको बता दें कि यह सॉफ्टवेयर माइकल क्रॉफोर्ड नाम के एक आदमी ने बनाया है, उसका दावा है कि इस सॉफ्टवेयर के प्रयोग से आप इतना पैसा कमाएंगे कि एक दिन आपके पास अपनी खुद की मर्सिडीज कार, शानदार घर और जेट प्लेन होगा. माइकल क्रॉफोर्ड इस सॉफ्टवेयर के जरिये बहुत कम समय में आपको मिलेनियर बनाने का दावा करता है, इसके साथ ही वह अपनी और अपने ही तरह के कुछ और लोगों की सक्सेस स्टोरी भी बताता है.


इस जबरदस्त सॉफ्टवेयर का नाम है क्वांटम कोड. माइकल क्रॉफोर्ड यह दावा करता है कि क्वांटम कोड के जरिये कोई भी सामान्य आदमी कम से कम समय में मिलेनियर बन सकता है, और वो इसके लिए 100% गारंटी भी देता है, माइकल क्रॉफोर्ड का दावा है कि बिना किसी इन्वेस्टमेंट या बिना किसी राकेट साइंस के सीधे और वैधानिक तरीके से आप हर रोज बड़ी मात्रा में मुनाफा बना सकते हैं. वो बताता है कि यह सॉफ्टवेयर एक NQS थीम पर काम करता है जिसका मतलब है नियर क्वांटम स्पीड, यह एक ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर है और यह बहुत तेजी से काम करता है.
माइकल क्रॉफोर्ड के अनुसार इस सॉफ्टवेयर में किसी भी तरह की गलती होने की कोई सम्भावना नहीं है, और कोई भी व्यक्ति बिना किसी प्रकार की फीस दिए इसका लाभ उठा सकता है, उसके अनुसार यह सॉफ्टवेयर ऐसी तकनीकि से बनाया गया है जो स्टॉक मार्केट के मूवमेंट्स को 60 सेकेंड पहले ही भाप लेता है और आपको आगाह कर देता है, और आपके स्टॉक्स का पूरा मैनेजमेंट भी करता है. इसके जरिये आप हर रोज लाखों रूपये कमा सकते हैं और इसके लिए आपको अपना बहुत ज्यादा समय या पैसा देने की भी कोई जरूरत नहीं है.

ज्यादा जानकारी के लिए ये वीडियो देखें-

 

नोट- इस वीडियो में बताई गयी जानकारी को पहले अपने स्तर से जांच लें तभी उसपर भरोसा करें अगर आपको इस वीडियो में बताये गए तरीकों से कोई नुकसान या क्षति पहुंचती है तो इससे टीम या इस लेख का लेखक जिम्मेदार नहीं होंगे.

जामुन फायदेमंद है, इसकी गुठलियां के फायदे जानकार गुठलियां भी नहीं फेकेंगे आप !

जामुन फायदेमंद है, इसकी गुठलियां के फायदे जानकार गुठलियां भी नहीं फेकेंगे आप !



                                                  गर्मियों के मौसम में कुछ फल ऐसे होते हैं जो लोगों की जुबान पर चढ़े रहते हैं। आम तो फलों का राजा होता है इसके साथ ही जामुन भी कुछ कम नहीं है। एक बार जो जामुन के मजे ले लेता है वह इसे भूलता नहीं है। जामुन के सेवन से शरीर को कई फायदे होते हैं। यकीन मानिये जामुन में ऐसे-ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जिनके बारे में जानकर इसे ना खाने वाले भी इसका सेवन शुरू कर देंगे।

 

गुठलियों में मौजूद होते हैं कई तत्व:


हालांकि जो लोग जामुन का सेवन करते हैं, वह जामुन तो खा लेते हैं लेकिन इसकी गुठलियों को फेंक देते हैं। शायद उन्हें पता नहीं होता है कि जामुन के साथ ही उसकी गुठलियों में भी कई तत्व मौजूद होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक होते हैं। जामुन की गुठलियों में विटामिन ए और सी पाया जाता है जो पाचनक्रिया को सही रखता है। इसके साथ ही जामुन की गुठलियों के कई और भी फायदे होते हैं।

 

इस तरह इस्तेमाल करें जामुन की गुठलियों को:

जामुन खाने के बाद उसकी गुठलियों को फेंके नहीं बल्कि उन्हें इकठ्ठा कर लें। इसके बाद अच्छी तरह धो लें। धोने के बाद गुठलियों को धूप में सूखने के लिए रख दें। जब गुठलियां अच्छी तरह सूख जाए तो इसका छिलका उतारकर इसे छोटे-छोटे टुकड़े में करके पीस लें। इसे पीसने के बाद किसी कांच की शीशी में भरकर रख दें।

जामुन की गुठलियों के फायदे:


*- मधुमेह के रोगी के लिए जामुन के गुठलियों से बना हुआ पाउडर बहुत ही फायदेमंद होता है। इसे हर रोज खाली पेट एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ लेना चाहिए। इससे मधुमेह नियंत्रित होता है।
*- जिन लोगों को पेचिश की समस्या होती है, उन्हें एक-एक चम्मच इस पाउडर का सेवन दिन में 2 से 3 बार करना चाहिए।
*- जिन महिलाओं को पीरियड के समय अधिक ब्लीडिंग हो रही हो वह इस पाउडर में 25% पीपल की छाल का चूर्ण मिलाकर दिन में 2-3 बार ठंढे पानी से एक-एक चम्मच लें। कुछ ही समय में आराम दिखना शुरू हो जायेगा।
*- दांतों और मसूड़ों की समस्याओं से बचने के लिए इस पाउडर से मंजन करें। आपके दांत और मसूड़े मजबूत हो जायेंगे।
*- कई छोटे बच्चे रात के समय बिस्तर पर ही पेशाब कर देते हैं। बच्चे की इस समस्या को दूर करने के लिए उन्हें दिन में 2-3 बार आधा-आधा चम्मच इस पाउडर को पानी के साथ पिलायें।




मसाज पार्लर में व्यक्ति के साथ हुआ कुछ ऐसा जिसे देखकर हो जायेंगे आप हैरान… देखें वीडियो!


 मसाज पार्लर में व्यक्ति के साथ हुआ कुछ ऐसा जिसे देखकर हो जायेंगे आप हैरान… देखें वीडियो!

आज की भाग-दौड़ भारी जिन्दगी में इंसान दो पल के आराम के लिए कुछ भी करने को तैयार है। आज के समय में लगभग हर बड़े शहर में मसाज पार्लर खुल गए हैं, जहाँ लोगों के शरीर का मसाज किया जाता है। आज भी गाँवों में लोग घर पर ही अपना मसाज करवा लेते हैं। जिन लोगों के पास ज्यादा पैसा होता है वह इस देश में ना करवाकर थाईलैंड मसाज कराने के लिए जाते हैं। आपको बता दें थाईलैंड मसाज के लिए सबसे प्रसिद्ध जगह है।

 

 मसाज पार्लरों में होते हैं गलत धंधे:

खैर आज के समय में जितने पैसे वाले हैं, सब मसाज कराने के लिए मसाज पार्लर में जाते हैं। कई बार वो इन्ही मसाज पार्लरों में होने वाले गलत धंधे में फँस जाते हैं, जिसके लिए उन्हें बाद में पछताना पड़ता है। आज हम आपको एक ऐसा ही वीडियो दिखाने जा रहे हैं, जिसमे एक लड़का मसाज करवाने के लिए एक पार्लर में जाता है। लेकिन वहाँ पर उसके साथ जो होता है, वो किसी को भी हैरत में डाल सकता है।
आपको पहले ही बता दें यह एक प्रैंक वीडियो है, इसका किसी भी वास्तविक घटना से कोई लेना देना नहीं है। यह आजकल जो मसाज पार्लरों में हो रहा है उसी को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

यह वीडियो दिखता है समाज की सच्चाई को: वीडियो देखें:

 

लड़की, लड़के को बैठने के लिए कहती है और उसके हाथ में मालिश करने लगती है, लड़की उसका हाथ जोर से पकड़ी रहती है। तभी पार्लर में पुलिस आ जाती है और लड़की कहने लगती है कि यह लड़का मेरे साथ जबरदस्ती कर रहा था। लड़का लाख कहता है कि उसने कुछ भी नहीं किया, लेकिन पुलिस मानने को तैयार नहीं होती है। तभी दूसरा लड़का आ जाता है और बताता है कि उसका प्रैंक वीडियो बनाया जा रहा था। सभी मिलकर हँसने लगते हैं।
भले ही यह एक प्रैंक वीडियो था, लेकिन यह समाज में चल रही घटनाओं की एक सच्ची तस्वीर दिखाती है। आप भी वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे लड़के को सभी ने मिलकर बेवकूफ बनाया है। अगर आप भी कभी मसाज पार्लर में जाएँ तो इस बात का ख़ास ख़याल रखें कि आपके साथ भी ऐसी कोई घटना ना हो जाए।

Monday, July 3, 2017

भारत ने चीन से 1962 की हार का लिया था बदला! जानिए – कैसे, कब और कहां?

भारत ने चीन से 1962 की हार का लिया था बदला! जानिए – कैसे, कब और कहां?




नई दिल्ली – भारत और चीन के बीच सीमा विवाद दिनों-दिन गहराता ही जा रहा है। अभी हाल ही में चीनी सेना ने भारतीय सीमा में घुसकर भारते के दो बंकर तबाह कर दिए और पीएम मोदी अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप कि मुलाकात पर भारत को 1962 कि याद दिलाते हुए ललकार भी लिया। चीन ने भारत को 1962 में मिली हार से सबक लेने कि सलाह दी है। हां ये सच है कि भारत चीन से 1962 में हार गया था लेकिन क्या आपको पता  है कि भारत ने उस हार का बदला पांच साल बाद ही चीन को हराकर बदला लिया था। India china war in nathula pass at 1967.
1967 में पांच साल बाद सिक्किम में चटाई थी धूल :

साल 1967 में भारत ने सिक्किम में भारत-चीन सीमा पर मौजूद नाथुला के पास चीन को हरा कर अपना बदला लिया था। इस इलाके में दोनों देशों के बीच जो दरवाजा बना है उसके एक तरफ लोहे की एक बाड़ है। जिसे लेकर 11 सितंबर साल 1967 को दोनों देशों की सेनाएं एक बार फिर दूसरे के आमने-सामने आ गई थीं। दरअसल, विवाद इस बात को लेकर था कि साल 1967 से पहले यहां सीमा की पहचान के लिए सिर्फ एक पत्थर लगा था।
 
इसी को लेकर चीनी सेना ने भारतीय सेना को पीछे हटने की धमकी दी और कहा कि पीछे हट जाओं नही तो 1962 की तरह कुचल दिए जाओगे। चीन को सबक सिखाने के लिए नाथुला में तैनात मेजर जनरल सगत राय की अगुवाई में सेना ने कंटीली बाड़ लगाने का फैसला किया। इसके बाद चीन ने बाड़ भारतीय सेना पर हमला कर दिया, लेकिन सेना ने मुहतोड़ जवाब देते हुए बाड़ लगाने का काम पुरा कर लिया।
1967 में ही दुसरी बार भारतीय सेना ने चीन को सिखाया सबक :


दूसरे विवाद की बात करें तो चाओ ला इलाके में भारत और चीन की पोस्ट के बीच की दूरी बहुत कम है। इस इलाके साल 1967 भारत और चीनी सेना के बीच लड़ाई हुई थी जिसमें भारतीय सैनिकों ने चीनी सेना को मार भगाया था। इस इलाके में मिली हार के बाद से चीन ने चाओ ला इलाके में कभी दखल नही दिया। इस लड़ाई का जिक्र 1967 में वहां तैनात रिटार्यड मेजर जनरल शेरू थपलियाल ने अपने एक लेख में किया था।
मेजर ने लिखा था कि, इस लड़ाई में दो वीर जवान 2 ग्रिनेडियर के कैप्टन डागर और 18 राजपूत के मेजर हरभजव सिंह ने चीन को मुंहतोड़ दिया। उस लड़ाई में शहीद हुए भारतीय सैनिकों के लिए नाथुलापास पर अमर जवान स्मारक भी बनाया गया है।

दूल्हे की ऐसी हरकत देख दुल्हन ने किया शादी से इनकार, कहा- ये नर्क बना देगा मेरी जिंदगी


 दूल्हे की ऐसी हरकत देख दुल्हन ने किया शादी से इनकार, कहा- ये नर्क बना देगा मेरी जिंदगी





बलिया: सामाजिक जागरूकता के लिए जब काम होता है तो तत्काल रूप से उसका प्रभाव नहीं दिखता, प्रभाव देखने के लिए इंतजार करना पड़ता है, कई बार पीढ़ियों तक इंतजार के बाद बदलाव दिखता है, हमारे समाज में निश्चित रूप से महिलाएं और लड़कियां अब सशक्त हुयी हैं, तभी गांव में शौचालय नहीं होने पर कभी कोई लड़की शादी करने से मना कर देती है तो शुद्ध हिंदी नहीं लिख पाने पर कोई दुल्हन दूल्हे को अस्वीकार कर देती है.

 

एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें दुल्हन ने मंडप में दूल्हे की एक हरकत की वजह से शादी करने से इंकार कर दिया. दरअसल दूल्हा गुटखा खाता था, उसके गुटखा खाने के कारण दुल्हन ने शादी से इंकार कर दिया, यह बात दुल्हन को तब पता चली जब बारात के आने पर दुल्हन की सहेलियां दूल्हे की आरती उतारने पहुंचीं, दूल्हन की सहेलियों ने देखा कि बारात के मंडप में आने पर दूल्हे ने गुटखा खाना शुरू कर दिया.













कटहल के इन फायदों से होंगे अंजान, जानकर हो जायेंगे हैरान !



                  Ayurveda कटहल के बारे में कौन नहीं जानता है। कटहल एक तरह की सब्जी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसकी सब्जी बहुत ही स्वादिष्ट होती है। कई लोग इसे ब्राह्मणों का मीट भी कहते हैं। इसको ना केवल सब्जी के रूप में बल्कि इसका इस्तेमाल अचार बनाने के लिए भी किया जाता है। कटहल का पकौड़ा भी काफी स्वादिष्ट होता है। कटहल को ना केवल कच्चे बल्कि पक जाने पर भी इस्तेमाल किया जाता है। benefits of jackfruit.


कटहल रखता है कई बिमारियों को दूर:


     पक जाने पर कटहल काफी मीठा हो जाता है। इसके बीज का भी इस्तेमाल सब्जी के रूप में किया जाता है। स्वाद के साथ-साथ कटहल में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो इंसान की सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि कटहल में विटामिन, कैल्शियम, पोटैशियम और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह शरीर को कई बिमारियों से भी दूर रखता है। आइये जानते हैं कटहल से होने वाले फायदों के बारे में।

कटहल के फायदे:

*- करे मुंह के छालों को दूर:

गर्मी के मौसम में लगभग हर दूसरा व्यक्ति मुंह के छालों से परेशान रहता है। इसकी वजह यह होती है कि इस मौसम में भी लोग जमकर तेल-मसाले वाली चीजें खाते हैं। जब आप मुंह के छालों से काफी परेशान हो जाएं तो कटहल की कुछ पत्तियों को लेकर चबाएं और उन्हें थूक दें। जल्दी ही आपको छालों से मुक्ति मिलेगी।
*- हड्डियां होती हैं मजबूत:

कटहल में कैल्शियम और मैंग्निशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह हमारे शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करता है। जिन लोगों की हड्डियां कमजोर हों उन्हें कटहल का सेवन जरूर करना चाहिए।




दुनिया की १० सब से घातक मिसाइलें, भारत की ‘ब्रह्मोस’ और ‘अग्नि ५’ का नंबर कौन सा है !


            ये हैं दुनिया की टॉप 10 मिसाइलें, भारत की दो सबसे संहारक मिसाइलें ‘ब्रह्मोस’ और ‘अग्नि 5’ भी हैं इस लिस्ट में शामिल! (Top 10 deadliest Missile of World)
दुनियाभर में आज हथियारों की होड़ है। किसी देश के पास सैनिकों की संख्या अधिक है, तो कहीं परमाणु हथियारों का जखीरा। कहीं लड़ाकू विमानों की अपनी तकनीक है तो किसी देश के पास अत्याधुनिक लेजर गाइडेड वैंपस हैं। लेकिन इन सभी फील्ड्स को एक करने के लिए मिसाइलों की जरूरत अहम है। बिना मिसाइल (अथवा रॉकेट) के अपनी सीमा में बैठे हम दुश्मनदेश के अंदर सटीकता से मार नहीं कर सकते।
मिसाइल ही हैं, जिनसे उन पर बम और घातक गोले गिराए जाते हैं। इन्हें विमानों, युद्घपोतों में अटैच करके सैकडों किमी दूर तक फेंका जा सकता है। इसलिए विश्व के लगभग सभी ताकतवर देशों में मिसाइलों के स्टॉक मौजूद हैं। कुछ देशों में ऐसी भी मिसाइलें बन चुकी हैं, जिन्हें महज एक बार दागने भर से हजारों हेक्टेयर एरिया पलभर में तबाह हो सकता है।



1. डोंगफेंग-41
वैसे तो दुनिया चीनी सेना और चीनी हथियारों के बारे में कम ही जानती है, लेकिन डीएफ-4 के बारे में जो थोड़ी बहुत जानकारियाँ सामने आई हैं, उसके हिसाब से डीएफ-41 दुनिया की सबसे सक्षम मिसाइलों में से एक है। ये परमाणु हथियारों को ढोने में तो सक्षम है ही, साथ ही किसी भी जगह से इसे छोड़ा जा सकता है। इसे सड़क पर खड़े किसी ट्रक लांचर से भी दागा जा सकता है। ये दुनिया में सबसे लंबी दूरी तक मारने वाली मिसाइल है, जिसकी रेंज लगभग 14 हजार किमी है। ये एक साथ कई लक्ष्यों को भी भेदने में सक्षम है।
संभावित निशाने
चीन की हथियार प्रतिस्पर्धा भारत, अमेरिका, जापान और कुछ यूरोपीय देशों से है। बेशक अमेरिकी रक्षा बजट दुनिया का 41% हो, लेकिन डोंगफेंग मिसाइल सीरीज के चलते चीन भी पीछे नहीं है। यह (DF-5) ट्रक लांचर बेस्ड बैलिस्टिक मिसाइल मानी गर्इ है।

Sachin A Billion Dreams (2017) TCRip

Download Sachin A Billion Dreams (2017) 


Click and Download Torrent File:- Click Here








Download Bank Chor 2017 Hindi Movies HD TS XviD Clean Audio

Download Bank Chor 2017 Hindi Movies HD

Click and Download Torrent File:- Click Here

 




 

Wednesday, June 28, 2017

टीचिंग का पैशन



टीचिंग का पैशन

  



टीचिंग का पैशन
जिस तरह एक कुम्हार कच्ची-गीली मिट्टी को अपने सुगढ़ हाथों से तराशकर एक खूबसूरत-सार्थक आकार दे देता है, कुछ वैसी ही भूमिका एक टीचर की भी होती है। टीचर के हाथों भी किसी भी व्यक्ति के
जिस तरह एक कुम्हार कच्ची-गीली मिट्टी को अपने सुगढ़ हाथों से तराशकर एक खूबसूरत-सार्थक आकार दे देता है, कुछ वैसी ही भूमिका एक टीचर की भी होती है। टीचर के हाथों भी किसी भी व्यक्ति के बचपन से लेकर युवावस्था तक का जीवन संवारा जाता है। जिस देश के टीचर अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित हैं, उस देश में कभी टैलेंट की कमी नहीं हो सकती। टीचर्स डे (5 सितंबर) के मौके पर अरुण श्रीवास्तव बता रहे हैं देश के लिए कितनी और क्यों महत्वपूर्ण है टीचर्स की भूमिका...
चाहें राजनेता हों या एंटरप्रेन्योेर, एमएनसी में काम करने वाले एग्जीक्यूटिव्स हों या फिर सरकारी या निजी नौकरी कर रहे लोग..., हम सब को काबिल बनाने और उपलब्धियों तक पहुंचाने में हमारे टीचर्स का सबसे बड़ा योगदान रहता है। बचपन से लेकर युवावस्था तक की पढ़ाई के दौरान पचासों अध्यापक हमारी जिंदगी में आते हैं। इनमें से सब तो शायद याद नहीं रह पाते, लेकिन कुछ अपने अंदाज, अपनी कर्मठता, अपने समर्पण और स्टूडेंट्स के प्रति अपने लगाव के कारण हमारे दिलो-दिमाग में हमेशा के लिए जगह बना लेते हैं। उनकी सीख हमेशा हमारा मार्गदर्शन करती रहती है।
भूमिका है बड़ी
दूसरी नौकरियों की तरह एक टीचर को सिर्फ जॉब के नजरिए से नहीं देखा जा सकता। उसके सरोकार कहीं ज्यादा संवेदनशील होते हैं। अगर वह अपनी भूमिका के प्रति थोड़ा भी लापरवाह है, तो फिर वह अपनी ड्यूटी के प्रति न्याय नहीं कर रहा। अगर वह अपने स्टूडेंट का मार्गदर्शन नहीं कर पाता, उन्हें दिशा नहीं दिखा पाता, तो फिर वह अपने काम को ईमानदारी से नहीं निभा रहा या फिर वह इस पेशे को लेकर उदासीन है।
साइकोलॉजी की समझ
माता-पिता के बाद किसी बच्चे को कोई समझ सकता है, तो वह टीचर ही है। वह बच्चे के मनोविज्ञान को बेहतर तरीके से समझ सकता है। कोई बच्चा क्या पसंद या नापंसद करता है, पढ़ाई के प्रति उसमें किस तरह रुचि पैदा की जा सकती है या कैसे वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकता है, इन सभी बातों को समझने की अपेक्षा एक टीचर से की जाती है।
उदासीनता नहीं, कर्मठता
टीचर को अपने पेशे की संवेदनशीलता को देखते हुए कभी भी टीचिंग के प्रति उदासीनता नहीं बरतनी चाहिए। हमारे देश में छोटे शहरों, कस्बों, गांवों के स्कूलों (खासकर सरकारी) में आमतौर पर कुछ को छोड़कर ज्यादातर टीचर्स की छवि टाइम पास करने या क्लास में न जाने की रहती है। दरअसल, उन्हें इस बात का एहसास ही नहीं होता कि उनके कंधे पर समाज और देश को बनाने-गढ़ने की कितनी बड़ी जिम्मेदारी है। अगर वे गंभीरता से मनन करें, तो शायद अपनी भूमिका को ईमानदारी से निभाने से कभी परहेज नहीं करेंगे।

पढ़ाने के लिए रेगुलर पढ़ें
आमतौर पर स्कूलों से लेकर कॉलेजों-विश्वविद्यालयों तक यह भी देखा जाता है कि एक बार टीचिंग के पेशे में आ जाने के बाद अधिकतर टीचर खुद पढ़ने या अपडेट रहने पर ध्यान ही नहीं देते। ऐसे में वे एक जैसी बातें या नोट्स ही हर साल, हर क्लास में दोहराते नजर आते हैं। वे इस बारे में सोचते ही नहीं कि बदलते वक्त के साथ उन्हेें अपने स्टूडेंट्स को भी नई जानकारियां देने की जरूरत है। देश और दुनिया में जो बदलाव हो रहे हैं, उनसे कनेक्ट करके टीचर अपने विषय में स्टूडेंट्स की दिलचस्पी बढ़ा सकते हैं, उनमें जिज्ञासा की प्रवृत्ति विकसित कर सकते हैं। अगर कोई अध्याापक खुद ज्यादा से ज्यादा पढ़ने और अपनी जानकारी बढ़ाने में दिलचस्पी रखता है, तो नि:संदेह वह अपने स्टूडेंट्स के साथ इन्हें साझा करके उन्हें भी लाभान्वित कर सकता है।
बढ़ रही जरूरत
देश की विशाल युवा आबादी को देखते हुए टीचर्स की भूमिका और ज्यादा बढ़ रही है। माना जा रहा है कि 2030 तक हमारे यहां दुनिया के सर्वाधिक युवा होंगे और हमारा देश युवाओं के मामले में नंबर वन होगा। जाहिर कि उस समय जो युवा होंगे, अभी वे बच्चे होंगे। ऐसे में अध्यापकों की भूमिका और महत्वपूर्ण हो जाती है। इस भूमिका को समझकर और बच्चों का समुचित मार्गदर्शन कर टीचर उनके टैलेंट को पूरी तरह से निखार सकते हैं। आज के बच्चे जब होनहार, इनोवेटिव युवा के रूप में कामकाजी दुनिया में एंट्री करेंगे, तो देश को मजबूत और समृद्ध ही करेंगे।
हम सब में है एक टीचर
पूर्व राष्ट्रपति डॉ.एपीजे कलाम बहुत बड़े वैज्ञानिक थे, लेकिन वे बार-बार कहते थे कि उनका सबसे बड़ा पैशन टीचिंग ही है। अपने आखिरी समय में भी वे आइआइएम शिलांग के स्टूडेंट्स के बीच व्याख्यान दे रहे थे। हम किसी भी पेशे या रोजगार में हों, अपने बच्चोें और परिजनों को अपनी नॉलेज और अनुभव से लगातार बताते-सिखाते रहते हैं। जो देश जितना पढ़ा-लिखा होता है, वह उतना ही तरक्की करता है। ऐसे में देश को हर मामले में आत्मननिर्भर बनाने और समृद्धि की राह पर ले जाने के लिए जरूरी है कि हमारा हर नागरिक शिक्षित हो। इसके लिए जरूरी है कि देश और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को महसूस करते हुए हम अपने आसपास के जरूरतमंद बच्चों/लोगों को शिक्षित बनाने का प्रयास करें। अपने जैसे लोगों के पारस्परिक सहयोग से अभियान चलाकर भी पढ़ाई के प्रति जागरूकता फैला सकते हैं।
ऑनलाइन का उठाएं फायदा
आप किसी भी पेशे में हों। बहुत पैसे कमा रहे हों। अपना काम बहुत बढ़िया तरीके से कर रहे हों। पर मन में कहीं कोई कसक-सी है कि काश अपनी नॉलेज या स्किल किसी के साथ साझा कर पाते। आप अपनी यह मुश्किल यूट्यूब, फेसबुक, स्काइप, वीडयो कॉन्फ्रेंसिंग आदि की मदद से हल कर सकते हैं। आप छोटे बच्चों से लेकर बड़े बच्चों तक को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से गाइड कर सकते हैं। उन तक अपनी विशेषज्ञता का लाभ पहुंचा सकते हैं। फिर देर क्यों? आज ही पहल करें और जरूरतमंदों को पढ़ाकर, उनके टैलेंट को बढ़ाने/निखारने में मदद करके उन्हें आगे बढ़ाएं और मन का सुकून मुफ्त पाएं।

Thursday, June 1, 2017

Most Populer Course's on Coursera

    Most Populer Course's on Coursera


1. Data Science
2. Gamification
3. Learning How to Learn: Powerful Mental Tools
4. Developing Innovative Ideas for New Companies
5. An Introduction to Interactive Programming in Python
6. Social Media Marketing
7, Writing Winning Resumes and Cover Letters
8. Responsive Website Basics: Code with HTML, CSS, and JavaScript
9. Ruby On Rails: An Introduction
10. Full Stack Web Development
11. Game Design and Development
12. Graphic Design
13. Machine Learning
14. How To Start Your Own Business
15. Inspirational Leadership: Leading with Sense
16. Photography Basics and Beyond: From Smartphone to DSLR
17. Python For Everybody
18. Search Engine Optimization (SEO)
19. Strategic Leadership and Management
20. Web Design for Everybody (Basics of Web Development and Coding)
21. TESOL Certificate, Part 1: Teach English Now!
22. iOS App Development with Swift
23. iOS Development for Creative Entrepreneurs
24. Business Foundations
25. Foundations of Business Strategy
26. Algorithmic Thinking
27. Android App Development
28. Leading People and Teams
29. Business Analytics
30. Entrepreneurship
31. Social Media in Public Relations
32. Digital Analytics for Marketing Professionals
33. Foundations of Graphic Design
34. Foundations of Business Strategy
35. The Technology of Music Production
36. Innovation Management
37. Cracking The Creativity Code: Discovering New Ideas
38. An Introduction to Programming the Internet of Things (IOT)
39. Content Strategy for Professionals
40. Digital Marketing
41. Entrepreneurship: Launching an Innovative Business
42. Introduction to Marketing
43. Principles of Computing
44. Java For Android
45. Strategic Career Self-Management
46. Basic Statistics
47. Big History: Connecting Knowledge
48. Introduction to Sustainability
49. Server Side Development with NodeJS
50. Introduction to CSS3